कोविड प्रोटोकॉल संग शिशु को स्तनपान करा सकती हैं कोरोना पाजिटिव धात्री माताएं

0
187

आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर कर रहीं जागरूक
आजमगढ – 13 मई 2021 | कोविड के बढ़ते संक्रमण के बीच कोरोना पाजिटिव धात्री महिलायें असमंजस में हैं कि ऐसे में शिशु को स्तनपान उचित होगा कि नहीं | इस पर जिला महिला चिकित्सालय की प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ मंजूला सिंह का कहना है कि कोविड पॉजिटिव धात्री माताओं को स्तनपान कराने से शिशु में संक्रमण का कोई भी खतरा नहीं है बशर्ते शिशु को स्तनपान कराते समय कोविड प्रोटोकॉल पूरी तरह से पालन किया जाए। उन्होंने बताया कि उपचाराधीन माताओं को इस संबंध में विस्तार से जानकारी दी जा रही है | नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्रों के डॉक्टर, आशा और एएनएम के माध्यम से उन्हें जागरूक किया जा रहा है |
ड़ॉ मंजूला का कहना है कि इस संक्रमण में बड़ी संख्या में लोग पॉजिटिव हो रहे हैं| यदि किसी कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आने से धात्री माताएं पॉज़िटिव हो जाती हैं तो भी वह अपने बच्चे को स्तनपान करा सकती हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डबल्यूएचओ) ने भी इसकी पुष्टि की है। डबल्यूएचओ का कहना है कि मां के दूध से बच्चे के कोविड पॉजिटिव होने की आशंका कम रहती है। उन्हें शिशु को स्तनपान कराना नहीं छोड़ना चाहिए। इससे शिशु को ज्यादा दिक्कत हो सकती है। वह कुपोषण तथा दूसरी अन्य बीमारियों के साथ ही हाइपोथर्मिया का शिकार हो सकता है जिससे शिशु के शरीर का तापमान सामान्य से कम होने की आशंका रहती है।
उपकेंद्र लोहरा की आशा संगिनी अनीता ने बताया कि उपचाराधीन माताएं अपने बच्चे को स्तनपान कराते समय कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन कराने के लिए गृह भ्रमण कर जागरूक कर रही हैं।
नवजात शिशु को खतरे से कैसे बचाव करें – स्तनपान कराने से पहले अपने हाथों को साबुन पानी से अच्छी तरह से धोएं और स्तनों को अच्छी तरह से धो लें। मास्क का प्रयोग जरूर करें। स्तनपान के दौरान शिशु को धुले हुए कपड़े या तौलिया में रखें | स्तनपान के बाद तौलिया शिशु के शरीर से अलग कर दें और माँ से शिशु को अलग कमरे में रखें | शिशु को घर के बाहर न ले जाएं। परिवार के सदस्य बाहर से आने के बाद हाथों को साबुन से साफ करने के बाद ही शिशु को छुएं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here