नई दिल्ली : मुख्तार अंसारी पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा झटका, पंजाब जेल से भेजा जाएगा उत्तर प्रदेश जेल किस जेल में होगे शिफ्ट

0
1029

उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी और अब सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार के हित में फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने 2 हफ्ते के अंदर मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश भेजने का निर्देश दिया है।

आज की चाल/लाइव न्यूज 18

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के बाहुबली मुख्तार अंसारी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश में भेजने का आदेश दिया है। फिलहाल मुख्तार अंसारी पंजाब की जेल में बंद है और उत्तर प्रदेश सरकार आरोप लगाती रही है कि पंजाब की कांग्रेस सरकार में उसे संरक्षण दिया जा रहा है। इसी मामलों को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी और अब सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार के हित में फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने 2 हफ्ते के अंदर मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश भेजने का निर्देश दिया है।
मुख्तार अंसारी है कौन?
लगातार 5 बार से विधायक, जेल के अंदर से जीतता है चुनाव
जनवरी 2019 से पंजाब की रोपड़ जेल में बंद है मुख्तार
यूपी में 30 एफआईआर 14 मुकदमे विचाराधीन, मुख्तार के खिलाफ कुल 40 से ज्यादा केस हत्या, फिरौती जैसे संगीन मामले दर्ज, पिछले 14 साल से जेल में बंद है मुख्तार
बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड में मुख्य आरोपी
वहीं, आपको बता दें कि इससे पहले कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय ने उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को पत्र लिखकर जेल में बंद माफिया डॉन और बसपा विधायक मुख्तार अंसारी से अपनी जान को खतरा होने का दावा किया था। उन्होंने अपने लिए सुरक्षा की मांग की थी। अपने पत्र में, राय ने कहा था कि उन्होंने 6 फरवरी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पहले ही सूचित कर दिया था कि वह प्रयागराज में सांसदध्विधायक अदालत के सामने अपने भाई अवधेश राय की हत्या से संबंधित एक मामले में अंसारी के खिलाफ गवाह के रूप में उपस्थित होंगे।
उन्होंने कहा कि उनका सुरक्षा कवर वापस ले लिया गया और शस्त्र लाइसेंस भी रद्द कर दिया गया है। पूर्व विधायक ने कहा था, मुख्यमंत्री ने मेरे पत्र पर ध्यान नहीं दिया, जबकि 10 प्रतिशत निर्धारित शुल्क पर मुझे दिए गए सुरक्षा कर्मियों को भी वापस ले लिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here